Healthy lifestyless

घमौरियों का इलाज:कारण,लक्षण,बचाव के उपाय

घमौरियों का इलाज:कारन,लक्षण और बचाव के उपाय घमौरियां होने के कारण 

गर्मियों के दिनों में बढ़ते तापमान और  ह्यूमिडीटी की वजह से हमारा  शरीर अधिक मात्रा में पसीना निकालता है और कई बार पसीने के थक्को की वजह से शरीर में मौजूद पसीने की ग्रंथियों के मुँह बंद हो जाते  है।  इसकी  वजह से शरीर पर छोटे छोटे लाल  दाने /चकते  निकल आते है  और इन लाल दानो में  खुजली  और जलन होने लगती है इनमे होनेवाली खुजली को कांटेदार खुजली भी कहा जाता है।   इन्ही  लाल दानो को  घमोरियां कहा जाता है।  अंग्रेजी में इन घमौरियों को Prickly Heat कहा जाता है। और इन लाल दानो में होनेवाली खुजली से इंसान इतना परेशान  हो जाता है की ना  चाहते हुए भी उसे बार बार घमौरियों वाले स्थान को खुजलाना  ही पड़ता है और अधिक खुजलाने की वजह से इनमे छाले से पड़  जाते है।

घमौरिया शरीर में किसी भी हिस्से पर हो सकते है लेकिन आमतौर पर यह लाल दाने छाती, पीठ,बगल,कमर और पैरो पर  ज्यादा दिखाई देते है। घमौरियां पुरे शरीर में भी फ़ैल सकती है लेकिन यह किसी और को संक्रमित नहीं करती।और यह भी देखा गया है की  अर्धविकसित पसीने की ग्रंथिया   होने की वजह से घमौरियों के लक्षण बच्चो में ज्यादा दिखाई देते है। 

 कभी कभी शरीर के अंदर का तापमान  सामान्य से अधिक हो जाने पर भी शरीर पर घमौरिया निकल आती है    सामान्य तौर पर यह अपने आप ठीक हो जाती है लेकिन इसके होने  से शरीर के उन हिस्सों में ज्यादा खुजलाहट होती है जिसकी वजह से चिड़चिड़ापन  बड़  जाता है.

सामान्य लक्षण 

शरीर पर   लाल छोटे छोटे दाने/छाले  निकल आते है, शरीर पर  घमौरियों से प्रभावित स्थान पर चुभन का एहसास होने लगताहै, शरीर पर घमौरियों के प्रभावित हिस्से पर हल्की  हल्की  सूजन   आती है।  

घमौरियों से बचाव

जितना हो सके बच्चो के लिए सूती वस्त्रो से बने और ढीले ढाले   वस्त्रो  का  ही ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करना चाहिए ,उसी तरह वयस्कों ने भी गर्मियों के दिनों में सूत्री वस्त्र ही पहनना  चाहिए और कोशिश करे की  चुस्त कपड़ो की अपेक्षा ढीले ढाले कपड़ो को ही ज्यादा प्राधन्यता दे। 

गर्मियों के दिनों में अधिकाधिक मात्रा में पानी का सेवन करना  चाहिए जिसकी वजह से शरीर को अंदर की नमी बरकरार रह सके  और इसके साथ ही  सूर्यकिरणों केसीधे  संपर्क में आने से बचना  चाहिए। 

नारियल पानी,तरबूज,खीरा  इनका खाने में अधिकाधिक इस्तेमाल करे. इससे  शरीर में पानी की कमी नही   होगी  और कम से कम दो बार ठन्डे पानी से स्नान करने का प्रयास जरूर करे जिससे शरीर को गर्मी से राहत मिलेगी 

घमौरियों  का घरेलु इलाज  

घमौरियों से छुटकारा पाने के लिए बाजार में कई तरह के लोशन्स और पाउडर मिल ही जाते है इसके  अलावा हम  कुछ घरेलु नुस्खे अपनाकर भी इनसे छुटकारा पा सकते है। 

१) चुभनवाली घमौरियों से राहत पाने के लिए जामुन के बीजों से बना पेस्ट प्रभावित स्थान पर लगा दे। इसके इस्तेमाल से चुभनवाली घमौरियों में जल्दी आराम मिलता है। 

२) मुल्तानी मिटटी को पानी में घोलकर पतला पेस्ट बना ले और उसे घमौरियों वाले स्थान पे लगा कर रख दे जब यह पूरी तरह से सुख जाये तो इसे ठन्डे पानी से धो ले इससे भी घमौरियों में जल्दी राहत  मिल जायेगी। 

३) नीम की पत्तियों को पानी में भिगोकर अच्छी तरह पीस  ले और उसका पेस्ट बनाकर   घमौरियों वाले स्थान पे लगा दे , घमौरियों से राहत पाने का यह भी एक बेहतरीन नुस्खा है। 

४) चन्दन पाउडर और धनिया पाउडर में थोड़ा सा गुलाबजल मिलाकर अच्छी तरह मिश्रण करके पेस्ट तैयार कर ले और इसे घमौरियों वाले स्थान पर लगाए अच्छी तरह सूखने के बाद इसे ठन्डे  पानी से धो ले 

5) घमौरियों से तुरंत राहत पाने के लिए तरबूज़  के गुदा को निकालकर प्रभावित स्थान पर लगा ले 

6 ) एलोवेरा  के गुदा /जेल  से घमौरियों वाले स्थान पर हलके हाथो से मसाज करे,  इसके  रोजाना 1  या 2  बार इस्तेमाल  करने से आपको घमौरियों से जल्दी ही छुटकारा मिल जायेगा

सलाह :  उपर दिए गए सारे नुस्खो से घमौरियों में आराम जरूर मिलता है  लेकिन सभी इंसानो की त्वचा अलग अलग प्रकार की होती है इसलिए डॉक्टर से परामर्श के बाद ही इन नुस्खों का इस्तेमाल करे। 

ये भी देखे……

अमिताभ बच्चन अभिनीत शराबी (1984) फिल्म की सुनी-अनसुनि बातें

Βenefits of Αloe vera: एलोवेरा के फायदे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *